अमेरिका में MDH के सांभर मसाले में मिला साल्मोनेला बैक्टीरिया, वापस मंगवाए गए स्टॉक

एफडीए को पता चला कि बाजार में कुछ ऐसे प्रोडक्ट्स बेचे जा रहे हैं, जिसमें साल्मोनेला बैक्टीरिया हैं.

अमेरिकी फूड रेग्युलेटर ने MDH कंपनी के सांभर मसाले में ‘साल्मोनेला’ नाम का बैक्टीरिया पाया है. इसके बाद अमेरिकी रिटेल मार्केट में एक डिस्ट्रीब्युटर को अपनी दुकान से MDH मसालों के तीन लॉट को हटाना पड़ा है.

यूएस फूड एंड ड्रग अथॉरिटी (USFDA) ने बयान जारी करके कहा है कि MDH के इस प्रोडक्ट को सर्टिफाइड लैब में जांच किया गया, जिस दौरान साल्मोनेला नामक बैक्टीरिया होने के बारे में पता चला है.

साल्मोनेला बैक्टीरिया की चपेट में आने के लक्षण
रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि एफडीए को पता चला कि बाजार में कुछ ऐसे प्रोडक्ट्स बेचे जा रहे हैं, जिसमें साल्मोनेला बैक्टीरिया हैं. इस सूचना के बाद जांच शुरू की गई. इसमें कहा गया है कि डायरिया, पेट में मरोड़ समेत 12 से 72 घंटे के अंदर तेज बुखार आना इस बीमारी के शुरुआती लक्षण हैं.

जब ये खतरनाक स्थर पर पहुंच जाता है तो मरीज को तेज बुखार, सिरदर्द, थकान, पेशाब में खून तक आने लगता है. यह बीमारी बच्चे, व्यस्क या बूढ़ों को हो सकता है, जिनकी रोग प्रतिरोधाक क्षमता यानी इम्यून सिस्टम कमजोर होता है.

अमेरिका में पहले भी उठे हैं सवाल
गौरतलब है कि इससे पहले भी अमेरिका में एमडीएच मसालों पर सवाल खड़े हो चुके हैं. नियामक साल 2016 से 2018 के बीच में करीब 20 बार एमडीएच मसालों के प्रोडक्ट्स के आयात पर प्रतिबंध लगा चुका है.

भारत में भी इस कंपनी के कई मसाले बेचे जाते हैं. हालांकि अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है कि एमडीएच प्रोडक्ट्स में साल्मोनेला पाया जाता है या नहीं.

ये भी पढ़ें-

खुफिया एजेंसियों का खुलासा- कोड वर्ड्स के जरिए कश्मीर के आतंकियों से संपर्क साध रही PAK सेना

भारत और चीन के सैनिकों में LAC पर जमकर हुई धक्का-मुक्की, तनाव बरकरार

पाकिस्तान का फिर ‘थर्ड पार्टी’ राग शुरू, विदेश मंत्री बोले- भारत के साथ द्विपक्षीय वार्ता संभव नहीं