भारत के डिफेंस और रिसर्च पर है चीन की साइबर अटैक आर्मी की नजर, सुरक्षा एजेंसियों ने दी वार्निंग

सुरक्षा एजेंसियों की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) की इस सीक्रेट यूनिट ने भारत के खिलाफ अपनी गतिविधियां तेज कर दी हैं.
Chinese Army's cyber attack unit, भारत के डिफेंस और रिसर्च पर है चीन की साइबर अटैक आर्मी की नजर, सुरक्षा एजेंसियों ने दी वार्निंग

साइबर जासूसी के लिए पहचानी जाने वाली चीनी सेना की सीक्रेट यूनिट ‘61398’, भारत की रक्षा और अनुसंधान से संबंधित सूचनाओं पर नजर गड़ाए हुए है. इस बारे में सुरक्षा एजेंसियों ने सोमवार को चेतावनी जारी की है. सुरक्षा एजेंसियों की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) की इस सीक्रेट यूनिट ने भारत के खिलाफ अपनी गतिविधियां तेज कर दी हैं.

पिछले कुछ महीनों में कई मामले सामने आए हैं, जिसमें PLA से जुड़े चीनी हैकर्स ने साइबर जासूसी के जरिए देश की संवेदनशील जानकारी जुटाने की कोशिश की है. केंद्रीय सुरक्षा के लिए तैनात एक अधिकारी ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में बताया कि ये यूनिट 61398 चीन के शंघाई में पुडोंग जिले के डाटोंग एवेन्यू में स्थित है और इसकी गतिविधियों में काफी तेजी देखी जा रही है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

इस मामले से परिचित एक और अधिकारी ने बताया कि साइबर जासूसी गतिविधियों का सपोर्ट करने वाले कम से कम तीन साइबर हैकर्स की रिपोर्ट है. उन्होंने बताया कि हाल ही में इन हैकर्स ने साइबर जासूसी के लिए दुनिया भर में एक विशेष कंप्यूटर प्रोग्राम भेजने का प्रयास किया था.

अमेरिका ने भी इसी यूनिट के 5 लोगों पर लगाया था जासूसी का आरोप

मालूम हो साल 2014 में अमेरिका ने जासूसी के लिए 5 PLA सैन्य अधिकारियों पर आरोप लगाया था और वे यूनिट ‘61398’ का हिस्सा थे. अमेरिकी एजेंसियों का मानना ​​है कि यूनिट ‘61398’ की तरह, PLA के सक्रिय समर्थन से चीन में कई ऐसे समूह मौजूद हैं, जो दुनिया भर में साइबर जासूसी में लगे हुए हैं.

Related Posts