अलगाववादी नेता गिलानी को अपने सर्वोच्च सम्मान से नवाजे़गा पाकिस्तान, संसद में प्रस्ताव पारित

निशान-ए-पाकिस्तान (Nishan-e-Pakistan) पड़ोसी मुल्क का सबसे बड़ा सिविलियन अवॉर्ड है. गिलानी के नाम पर एक विश्वविद्यालय का नाम रखने का प्रस्ताव भी पाक संसद की तरफ से पास किया गया है.

Separatist Syed SHah Gilani gets Pak top award, अलगाववादी नेता गिलानी को अपने सर्वोच्च सम्मान से नवाजे़गा पाकिस्तान, संसद में प्रस्ताव पारित

भारत 5 अगस्त को जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 (Article 370) को समाप्त किए जाने की पहली वर्षगांठ मनाने की तैयारी में है, वहीं सीमा के दूसरी तरफ एक दूसरे तरह की योजना बन रही है. अभ पाकिस्तानी संसद ने 90 वर्षीय हुर्रियत के पुराने नेता सैयद अली शाह गिलानी को देश का सर्वोच्च सम्मान निशान-ए-पाकिस्तान से नवाज़ने का प्रस्ताव पारित किया है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

पाकिस्तानी संसद द्वारा किया गया ये बड़ा फैसला पाकिस्तान की भारत के लिए खिलाफत का नया पैंतरा है. निशान-ए-पाकिस्तान पड़ोसी मुल्क का सबसे बड़ा सिविलियन अवॉर्ड है. गिलानी के नाम पर एक विश्वविद्यालय का नाम रखने का प्रस्ताव भी संसद की तरफ से पास किया गया है. सर्वसम्मति से पास किए गए प्रस्ताव में मांग की गई है कि गिलानी के जीवन की कहानी को राष्ट्रीय और प्रांतीय स्तरों पर स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल किया जाए.

पाकिस्तानी सांसद मुश्ताक अहमद ने पेश किया प्रस्ताव, ध्वनिमत से पारित

ये प्रस्ताव पाकिस्तानी सांसद मुश्ताक अहमद ने पेश किया जिसे सदन ने ध्वनिमत से पारित कर दिया. कश्मीर में अलगावादी गतिविधियों को जारी करने के चलते ही पाकिस्तान हुर्रियत के नेता को सम्मानित कर रहा है. गिलानी ने हाल ही में कश्मीर के अलगाववादी संगठन हुर्रियत से इस्तीफा दिया था. गिलानी कश्मीर में आतंकवाद और हिंसा के लिए जिम्मेदारों की लिस्ट में रहा है. 2016 में कश्मीर हिंसा के बाद टेरर फंडिंग का आरोप भी गिलानी पर लगा, काफी वक्त से गिलानी को कश्मीर में उनके घर में नज़रबंद रखा गया है.

आपको बता दें कि 5 अगस्त को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान मुजफ्फराबाद जाएंगे और “आत्मनिर्णय के कश्मीर के संघर्ष” के साथ एकजुटता विषय पर पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर की विधानसभा को संबोधित करेंगे, जिसका लाइव प्रसारण भी होगा. इसके अलावा जम्मू-कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव के संदर्भ में पर्चे भी वहां बांटे जाएंगे. पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय और आईएसआई भारत और पाकिस्तान में संयुक्त राष्ट्र सैन्य पर्यवेक्षक समूह को एक श्वेतपत्र भी सौंपेंगे.

गिलानी ने 5 अगस्त को हड़ताल का किया आह्वान

वहीं अवैध रूप से अधिकृत जम्मू-कश्मीर में हुर्रियत नेता सैयद अली गिलानी ने 5 अगस्त को जागरूकता दिवस के रूप में मनाने की अपील करते हुए पूर्ण हड़ताल का आह्वान किया है. 5 अगस्त के संबंध में कश्मीरी लोगों को एक संदेश में सैयद अली गिलानी ने कहा कि यह दिन उप महाद्वीप के इतिहास में सबसे काला दिन है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts