PAK आर्मी में बगावत! 7 जनरल एक साथ हो गए, चीफ बाजवा पड़े अलग-थलग

सीनियर जनरल्‍स देख रहे थे कि बाजवा कैसे सिस्‍टम को तोड़-मरोड़ कर अपनी कुर्सी पर लंबे समय तक टिकने का रास्‍ता बना रहे हैं.

पाकिस्‍तानी सेना बगावत पर उतर आई है. आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा को हटाने के लिए 7 जनरल एकजुट हो गए हैं. उन्‍होंने पाकिस्‍तान के चीफ जस्टिस आसिफ सईद खोसा के साथ मिलकर आर्मी चीफ का एक्‍सटेंशन रुकवाया. ये जनरल नहीं चाहते थे कि आर्मी चीफ बनने का उनका इंतजार और लंबा हो.

जिन जनरल्‍स के नाम सामने आए हैं, उनमें मुल्‍तान के कॉर्प्‍स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल सरफराज सत्‍तार का नाम है. वे सीनियरिटी लिस्‍ट में टॉप पर हैं. इसके अलावा ले. जनरल नदीम रजा, ले. जनरल हुमायूं अजीज, ले. जनरल नईम अशरफ, ले. जनरल शेर अफगान और ले. जनरल काज़ी इकराम का नाम शामिल है. चीफ ऑफ जनरल स्‍टाफ ले. जनरल बिलाल अकबर का नाम इस लिस्‍ट में सातवें नंबर पर है.

बाजवा से खार खाए बैठे हैं सीनियर जनरल

सारे जनरल्‍स खुलेआम तो बाजवा को विरोध नहीं करते, मगर सबसे सीनियर जनरल्‍स देख रहे थे कि बाजवा कैसे सिस्‍टम में छेदकर अपनी कुर्सी पर लंबे समय तक टिकने का रास्‍ता बना रहे हैं. उन्‍होंने कथित तौर पर चीफ जस्टिस का साथ लिया.

ऐसी रिपोर्ट्स हैं कि बाजवा के बाद सबसे सीनियर ऑफिसर ले. जनरल सत्‍तार ने खुद को दरकिनार किए जाने पर इस्‍तीफा दे दिया है. कुछ हफ्ते पहले, उनके और बावजा के बीच तीखी बहस की ख़बरें आई थीं. कायदे से जिस दिन बाजवा को रिटायर हो जाना चाहिए, उस 29 नवंबर 2019 को सत्‍तार सबसे सीनियर जनरल होते.

ये भी पढ़ें

पाकिस्तान के इस गांव में एक भी सिख नहीं, हिंदुओं ने खोला गुरुद्वारा, मुस्लिम बनाते हैं लंगर

संविधान को क्या देखा, हमें भारत, सीआईए का एजेंट बना दिया गया: पाकिस्तानी चीफ जस्टिस