Beirut Blast: हिरासत में लिए गए पोर्ट स्टाफ के 16 संदिग्ध, मरने वालों की संख्या 135 हुई

सैन्य न्यायालय के न्यायाधीश फादी अक्की (Fadi Akiki) ने बताया, "धमाके को लेकर अबतक 18 लोगों से पूछताछ हुई है. ये सभी लोग पोर्ट और कस्टम के अधिकारी हैं."
Sixteen people Beirut port, Beirut Blast: हिरासत में लिए गए पोर्ट स्टाफ के 16 संदिग्ध, मरने वालों की संख्या 135 हुई

लेबनान (Lebanon) की राजधानी बेरुत (Beirut) में हुए भीषण धमाके (Blast) मामले में 16 संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है. ये सभी लोग बेरुत पोर्ट के स्टाफ हैं. इनसे धमाके को लेकर पूछताछ की जा रही है.

सैन्य न्यायालय के न्यायाधीश फादी अक्की ने बताया, “धमाके को लेकर अबतक 18 लोगों से पूछताछ हुई है. ये सभी लोग पोर्ट और कस्टम के अधिकारी हैं.”

उन्होंने कहा कि धमाके के तुरंत बाद ही मामले में जांच शुरू कर दी गई थी. इस मामले में सभी संदिग्धों से पूछताछ की जाएगी. इस घटना से कई सारे तार जुड़े हुए हैं.

मरने वालों की संख्या 135 हुई

बता दें कि बेरुत बंदरगाह पर दो घातक विस्फोटों से मरने वालों की संख्या बढ़कर 135 हो गई है, जबकि लेबनान की कैबिनेट ने राजधानी शहर में दो सप्ताह के लिए आपात स्थिति घोषित कर दी है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, स्वास्थ्य मंत्री हमाद हसन ने बुधवार को मतकों के नए आंकड़ों की पुष्टि की.

उन्होंने कहा कि वर्तमान में करीब 5,000 लोग घायल हैं. इस बीच, आपात स्थिति लेबनानी सेना की निगरानी में होगी जो शहर में सुरक्षा बनाए रखेगी.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

प्राथमिक जानकारी से खुलासा हुआ है कि बंदरगाह पर गोदाम संख्या 12 में 2014 से संग्रहित 2,700 टन अमोनियम नाइट्रेट मंगलवार शाम को विस्फोट का कारण हो सकता है.

कैबिनेट ने बंदरगाह के अधिकारियों को गिरफ्तार करने का निर्णय लिया जो इस बारे में वाकिफ थे और अमोनियम नाइट्रेट के भंडारण में शामिल थे.

3-5 अरब डॉलर का आर्थिक नुकसान

इसने लोक निर्माण मंत्रालय से त्रिपोली बंदराह के माध्यम से आयात और निर्यात गतिविधियों को सुरक्षित करने का भी आग्रह किया. उच्च राहत आयोग उन लोगों के लिए स्कूल और होटल खोलने पर काम करेगा, जिन्होंने अपने घरों को खो दिया है.

मामले में जांच जारी है और उच्च रक्षा परिषद ने पांच दिनों के भीतर कुछ परिणाम प्रकट करने का वादा किया है. संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के उप प्रवक्ता फरहान हक के अनुसार, संयुक्त राष्ट्र भी नुकसान का आकलन कर रहा है और वैकल्पिक सहायता कार्यों की योजना बना रहा है.

हक ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र और कई देशों से आपातकालीन प्रतिक्रिया में सहायता के लिए विशेषज्ञों को बेरुत भेजा जा रहा है. इस बीच, बेरुत के गवर्नर मारवन अबोद ने कहा कि विस्फोटों से शहर को 3-5 अरब डॉलर का आर्थिक नुकसान हुआ है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts