पृथ्वी के बहुत पास से कल गुजरेगा उल्कापिंड, छोटी स्कूल बस जितना होगा आकार- NASA

NASA ने बताया कि यह ओबजेक्ट, जिसे 2020 SW के रूप में जाना जाता है, 24 सितंबर को पृथ्वी की सतह से सिर्फ 13,000 मील की ऊंचाई से होकर गुजरेगा.

Asteroid FILE

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) ने बताया कि एक स्कूल बस के आकार का उल्कापिंड आने वाले कुछ घंटों में पृथ्वी के पास से होकर गुजरेगा.

NASA ने बताया कि यह ओबजेक्ट, जिसे 2020 SW के रूप में जाना जाता है, 24 सितंबर को पृथ्वी की सतह से सिर्फ 13,000 मील की ऊंचाई से होकर गुजरेगा. NASA ने कहा कि पृथ्वी से इस उल्कापिंड की नजदीकी दूसरे आर्टिफिशियल ओबजेक्ट यानी सैटेलाइट के मुकाबले ज्यादा होगी.

एरिजोना में नासा के एक प्रोजेक्ट के तहत इस ओबजेक्ट को सबसे पहले 18 सितंबर खोजा गया था, जिसके बाद इसकी ट्रेजेक्टरी को फोलो करने में सफलता प्राप्त हुई है. इन सभी जानकारियों को मिला कर अनुमान लगाया गया है गरुवार दोपहर को ब्रिटेन के समय अनुसार ये पृथ्वी के सबसे ज्यादा नजदीक होगा.

2041 तक फिर नहीं आएगा पृथ्वी के करीब

इसके बाद यह ओबजेक्ट सोलर सिस्टम में अपनी यात्रा जारी रखते हुए, पृथ्वी काफी दूर हो जाएगा और करीब 2041 तक ये दोबारा धरती के किसी भी हिस्से के नजदीक नहीं आएगा.

अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा कि ये उल्कापिंड लगभग पांच से दस मीटर चौड़ा माना जा रहा है, जिसका आकार लगभग एक “छोटी स्कूल बस” के जितना होगा. नासा ने कहा कि इसकी चमक से इसके आकार का अनुमान लगाया गया है.

उल्कापिंड के पृथ्वी से टकराने की उम्मीद नहीं

एजेंसी के मुताबिक, पृथ्वी से टकराने की इसकी उम्मीद नहीं है. यदि ऐसा होता तो यह आग के गोले में विस्फोट हो जाएगा, क्योंकि यह वायुमंडल के माध्यम से अपना रास्ता बनाता था और जो कभी-कभी पृथ्वी की सतह से भी दिखाई देता है.

नासा के जेट में सेंटर फॉर नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट स्टडीज (CNEOS) के डायरेक्टर पॉल चोडास ने कहा, “इस तरह के छोटे उल्कापिंड बड़ी संख्या में हैं और उनमें से कई हर साल हमारे ग्रह के करीब आते हैं.”

Related Posts