NASA और SpaceX ने रचा इतिहास, दोनों अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर सुरक्षित धरती पर लौटा ‘क्रू ड्रैगन’

SpaceX का क्रू ड्रैगन पैराशूट की मदद से मैक्सिको की खाड़ी में उतरा, जिसके बाद कैप्सूल को NASA की टीम ने रिसीव किया और दोनों अंतरिक्ष यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाला. दोनों एस्ट्रोनॉट्स करीब दो महीने बाद वापस धरती पर लौटे हैं.
SpaceX Crew Dragon with two NASA astronauts splashdown, NASA और SpaceX ने रचा इतिहास, दोनों अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर सुरक्षित धरती पर लौटा ‘क्रू ड्रैगन’

अमेरिका के अंतरिक्ष केंद्र नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) के दो अंतरिक्ष यात्रियों रॉबर्ट बेकन और डगलस हर्ले को लेकर SpaceX का क्रू ड्रैगन (Dragon 2) इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (ISS) से वापस धरती पर लौट आया है. साथ ही दोनों अंतरिक्ष यात्रियों को कैप्सूल से सुरक्षित बाहर भी निकाल लिया गया है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

मैक्सिको की खाड़ी में उतरा कैप्सूल एस्ट्रोनॉट्स भी सुरक्षित

NASA की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक, अमेरिकी समय के अनुसार दोपहर करीब 02:48 बजे SpaceX का क्रू ड्रैगन पैराशूट की मदद से मैक्सिको की खाड़ी में उतरा, जिसके बाद कैप्सूल को NASA की टीम ने रिसीव किया और दोनों अंतरिक्ष यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाला.

“मानव अंतरिक्ष यान के एक नए युग में प्रवेश”

वहीं NASA के प्रमुख जिम ब्रिडेंस्टाइन ने कहा, “हम मानव अंतरिक्ष यान के एक नए युग में प्रवेश कर रहे हैं.” उन्होंने कहा कि यह धरती से अंतरिक्ष तक की कमर्शियल उड़ान की शुरुआत है.

दो महीने बाद धरती पर लौटे दोनों एस्ट्रोनॉट्स

दोनों एस्ट्रोनॉट्स करीब दो महीने बाद वापस धरती पर लौटे हैं. अंतरिक्ष से धरती तक के इस सफर के दौरान दोनों एस्ट्रोनॉट्स के साथ 330 पाउंड का कार्गो और 200 पाउंड का रिसर्च का सामान भी साथ थी. इस कारण से भी यह लैंडिंग सुरक्षित होने जरूरी थी.

31 मई को NASA के अंतरिक्ष यात्री पहुंचे थे ISS

मालूम हो कि 31 मई को स्पेस एक्स (SpaceX) का क्रू ड्रैगन (Demo-2) अंतरिक्ष यान NASA के अंतरिक्ष यात्रियों रॉबर्ट बेनकेन और डगलस हर्ले को लेकर सफलतापूर्वक अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (International Space Station) पहुंचा था. इसे अमेरिकी अंतरिक्ष कार्यक्रम में एक नए युग की शुरुआत माना जा रहा है.

SpaceX का चालक दल के साथ यह पहला मिशन

यह SpaceX का चालक दल के साथ यह पहला मिशन था. इसके अलावा यह, अमेरिकी सरकार द्वारा 2011 में अंतरिक्ष शटल कार्यक्रम को रिटायर किए जाने के बाद चालक दल के साथ अमेरिका का भी पहला लॉन्च था. NASA के SpaceX डेमो-2 के रूप में जाना जाने वाला यह मिशन एक एंड टू एंड फ्लाइट है, जिसका उद्देश्य SpaceX की चालक दल को ढोने वाली प्रणाली को वैरिफाई करना है, जिसमें लॉन्च, इन-ऑर्बिट, डॉकिंग और लैंडिंग ऑपरेशन शामिल हैं.

यह था मिशन

इस मिशन दौरान बेनकेन और हर्ले ने SpaceX मिशन कंट्रोल के साथ इस बात को सत्यापित करने के लिए काम किया कि अंतरिक्षयान उम्मीद के मुताबिक पर्यावरणीय नियंत्रण प्रणाली, डिस्प्ले और नियंत्रण प्रणाली का परीक्षण करने और मूवमेंट करने और अन्य चीजें सही तरीके से करने में सक्षम है या नहीं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts