श्रीलंका में भारतीय पत्रकार गिरफ्तार, बम धमाकों के बाद कवरेज पर गया था

श्रीलंका में ईस्टर के दिन गिरिजाघरों और होटलों को निशाना बनाकर बम धमाके किए गए थे.
Sri Lanka Blast, श्रीलंका में भारतीय पत्रकार गिरफ्तार, बम धमाकों के बाद कवरेज पर गया था

नई दिल्‍ली: भारत के एक फोटो-पत्रकार को श्रीलंका में गिरफ्तार कर लिया गया है. वह ईस्‍टर बम धमाकों के बाद वहां कवरेज करने गया था. पत्रकार को एक स्‍कूल में अनाधिकृत प्रवेश करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. सिद्दीकी अहमद दानिश नाम के रॉयटर्स फोटोजर्नलिस्‍ट दिल्‍ली में रहकर काम करते हैं. वह नेगोम्‍बो शहर के एक स्‍कूल में अधिकारियों से बात करने अवैध ढंग से घुसने का प्रयास कर रहे थे.

नेगोम्‍बो मजिस्‍ट्रेट ने दानिश को 15 मई तक रिमांड में भेज दिया है. स्‍थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पत्रकार सेंट सेबैस्टियन चर्च में मारे गए एक छात्र के बारे में जानकारी लेने के लिए स्‍कूल में घुस रहा था. धमाकों के समय स्‍कूल में रहे बच्‍चे के माता-पिता ने पुलिस को सावधान कर दिया था.

श्रीलंका में सोशल मीडिया पर लगा था बैन

श्रीलंका में 21 अप्रैल को ईस्टर के दिन गिरिजाघरों और होटलों को निशाना बनाकर बम धमाके किए गए थे. इन आत्‍मघाती धमाकों में 253 लोग मारे गए थे. बम विस्फोटों के तुरंत बाद, अधिकारियों ने देश में आपातकाल की स्थिति घोषित कर दी और सोशल मीडिया सेवाओं फेसबुक, व्हाट्सएप, वाइबर और स्नैपचैट जैसे मैसेजिंग ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया था.

इसके लिए यह तर्क दिए गए कि इस तरह के प्लेटफार्मों का इस्तेमाल हिंसा फैलाने के लिए साइबरस्पेस में गलत सूचना और अफवाहें फैलाने के लिए किया जा रहा है. हालांकि 30 अप्रैल को यह प्रतिबंध हटा लिया गया.

Related Posts