श्रीलंका: फिदायीन हमलावर के घर पहुंची पुलिस, तो उसके भाई ने भी खुद को बम से उड़ाया

ये दोनों भाई कोलंबो के महावेला गार्डन्स में रहते थे, जो कि अमीरों के निवास को लेकर काफी मशहूर है.
श्रीलंका, श्रीलंका: फिदायीन हमलावर के घर पहुंची पुलिस, तो उसके भाई ने भी खुद को बम से उड़ाया

कोलंबो: श्रीलंका की राजधानी कोलंबो के शांगरी-ला होटल में फिदायीन हमले को अंजाम देने वाला 33 साल का इंशाफ इब्राहिम एक व्यापारी था. जब पुलिस जांच के लिए उसके घर पहुंची तो इब्राहम के 31 वर्षीय छोटे भाई इल्हाम ने भी खुद को बम से उड़ा लिया. इस धमाके में इल्हाम के साथ उसके तीन बच्चों और पत्नी की मौत हो गई.

रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक ये दोनों भाई कोलंबो के महावेला गार्डन्स में रहते थे, जो कि अमीरों के निवास को लेकर काफी मशहूर है. इब्राहिम कि तांबे की फैक्ट्री थी और उन्हें पैसों की कोई तंगी भी नहीं थी. दोनों भाईयों की मौत के बाद उनके पिता मोहम्मद इब्राहिम को पुलिस ने पूछताछ के लिए गिरफ्तार कर लिया है. मोहम्मद इब्राहिम भी एक नामी कारोबारी हैं.

रॉयटर्स ने मोहम्मद इब्राहिम के पड़ोसियों से बातचीत की तो लोगों ने बताया कि वह गरीबों को खाना और कपड़ा वगेराह देने के लिए इलाके में काफी मशहूर थे. इसी के साथ उन लोगों का कहना है कि उन्हें यह विश्वास ही नहीं हो रहा कि मोहम्मद इब्राहिम के बच्चे ऐसा काम कर सकते हैं. इब्राहिम के छह बेटे और तीन बेटियां हैं.

दोनों भाईयों को नहीं थी कोई आर्थिक तंगी

वहीं उनके रिश्तेदारों का कहना है कि दोनों भाईयों को पैसों की कोई तंगी नहीं थी. हालांकि इसी के साथ उन्होंने बताया कि इल्हाम कट्टरपंथी विचारों का समर्थक था और वह नेशनल तौहीद जमात की बैठकों में भी हिस्सा लेता था. मालूम हो कि यह वही संगठन है जिसे इन हमलों का जिम्मेदार माना जा रहा है.

रिश्तेदारों का कहना है कि इंशाफ उदार विचारों वाला व्यक्ति था जो कि उसके पिता की तरह ही गरीबों की मदद किया करता था. उन्हें भी इंशाफ के खुद को बम से उड़ाकर लोगों को मौत के घाट उतारने की बात पर यकीन नहीं हो रहा है. मालूम हो कि ईस्टर के मौके पर श्रीलंका में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों में 359 लोगों की मौत हो गई थी.

ये भी पढ़ें: श्रीलंका में एक और बम धमाका, राजधानी कोलंबो से 40 किलोमीटर दूर हुआ विस्फोट

Related Posts