इमरान के प्‍लान पर ब्रेक, PAK आर्मी चीफ जनरल बाजवा का एक्‍सटेंशन सुप्रीम कोर्ट ने रोका

इमरान खान की सरकार ने जनरल कमर जावेद बाजवा को चीफ ऑफ आर्मी स्‍टाफ (COAS) पद पर तीन साल का एक्‍सटेंशन दिया था.

पाकिस्‍तान की सुप्रीम कोर्ट ने सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा को झटका दिया है. उनके एक्‍सटेंशन वाली नोटिफिकेशन को सस्‍पेंड कर दिया गया है. बाजवा 29 नवंबर को रिटायर होने वाले हैं. उन्‍हें 19 अगस्‍त को प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार ने चीफ ऑफ आर्मी स्‍टाफ (COAS) पद पर तीन साल का एक्‍सटेंशन दिया था.

चीफ जस्टिस ऑफ पाकिस्‍तान आसिफ सईद खोसा की अध्‍यक्षता में तीन सदस्‍यीय बेंच ने सभी पार्टियों को नोटिस जारी किया है. अटॉर्नी जनरल ने SC में कहा कि आर्मी चीफ का कार्यकाल राष्‍ट्रपति के अप्रूवल के बाद बढ़ाया गया था.

CJP ने कहा कि 25 कैबिनेट मंत्रियों में से सिर्फ 11 ने ही एक्‍सटेंशन पर रजामंदी दी. 14 लोगों ने कोई राय नहीं दर्ज कराई क्‍योंकि वह पहुंचे ही नहीं.

पाकिस्तान में आर्मी चीफ ही अपने कार्यकाल का टाइम तय करता है. बाजवा 29 नवंबर, 2016 को सेना प्रमुख बने थे.

पाकिस्तान की पूरी इंटरनल पॉलिटिक्‍स पर बाजवा का कब्‍जा माना जाता है. इमरान खान को प्रधानमंत्री बनाने में उन्होंने प्रमुख भूमिका निभाई थी. इमरान लगातार इस बात के लिए आलोचनाओं के घेरे में रहे हैं कि वह निर्वाचित नहीं हुए, बल्कि चुने गए.

इमरान खान ने खुद नेता विपक्ष के रूप में 2010 में यूसुफ रजा गिलानी के नेतृत्व वाली PPP सरकार द्वारा देश के तत्कालीन सेना प्रमुख जनरल अशफाक परवेज कयानी का कार्यकाल बढ़ाए जाने का विरोध किया था.

ये भी पढ़ें

पाकिस्तान को डुबोने में लगे इमरान खान, 13 महीने के कार्यकाल में बढ़ा 35 फीसदी कर्ज