फ्रांस: पैगंबर मुहम्मद के कार्टून को लेकर चर्चा करने पर टीचर का सिर कलम, हत्यारा मारा गया

राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों (Emmanuel Macron) ने घटना की निंदा करते हुए इसे इस्लामी आतंकवादी हमला करार दिया है. उन्होंने देश से चरमपंथियों के खिलाफ एकजुट होने की अपील की.

फ्रांस (Franc) में पैरिस के नज़दीक कॉनफ्लैंस सेंट-होनोरिन में पैगंबर मुहम्मद के कार्टून के बारे में छात्रों से चर्चा करने वाले इतिहास के एक टीचर की शुक्रवार को सिर कलम कर हत्या कर दी गई. जिसके बाद पुलिस ने संदिग्ध हत्यारे को गोली मार दी. अभियोजन अधिकारी के कार्यालय ने कहा कि मामले की आतंकवादी एंगल से जांच शुरू कर दी गई है.

पुलिस अधिकारियों ने कहा कि चाकू और एक एयरसॉफ्ट बंदूक से लैस संदिग्ध को पुलिस ने मार गिराया. तीन हफ्ते में ये दूसरी बार है कि फ्रांस में इस तरह की घटना सामने आई. राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने इस मामले की निंदा करते हुए इसे इस्लामी आतंकवादी हमला करार दिया है. उन्होंने देश से चरमपंथियों के खिलाफ एकजुट होने की अपील की.

ये भी पढ़ें- 20 दिन में आर्मेनिया और अजरबैजान की जंग में 52 हजार से ज्यादा मरे, किसका कितना नुकसान?

पैगंबर मुहम्मद के कैरिकेचर पर की थी चर्चा

अधिकारियों ने कहा कि टीचर ने अपने स्टूडेंट से इस्लाम के पैगंबर मुहम्मद के कैरिकेचर (कार्टून) को लेकर चर्चा की थी. फ्रांस की आतंकवाद विरोधी टीम ने संदिग्ध आतंकवादी हमले को लेकर हत्या की जांच शुरू कर दी है. कई घंटों बाद एक नाबालिग समेत 4 लोगों को हिरासत में लिया गया.

राष्ट्रपति ने ये भी कहा कि हमारे हमवतन की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, विश्वास करने या न मानने की स्वतंत्रता के बीच हत्या कर दी गई. हमें फ्रांस को बांटना नहीं चाहिए. हमें नागरिकों के रूप में एक साथ खड़े होना होगा. पश्चिमी यूरोप में सबसे ज़्यादा 5 मिलियन के करीब फ्रांस में मुस्लिम आबादी है. यहां इस्लाम दूसरे नंबर पर है.

टीचर को मिल रही थी धमकियां

स्कूल में चर्चा के बाद टीचर को धमकियां मिल रही थीं. एक बच्चे के माता-पिता ने टीचर के खिलाफ मामला भी दर्ज कराया था. हालांकि जिसने टीचर को मारा उसका कोई बच्चा स्कूल में पढ़ता था. वहीं फ्रेंच मीडिया के मुताबिक लड़का 18 साल का मॉस्को को रहने वाला था, हालांकि इसकी अभी पुष्टि नहीं हुई है.

ये भी पढ़ें-पाकिस्तान: तेल कंपनी के काफिले पर आतंकवादियों का हमला, 14 लोगों की मौत

Related Posts