VIDEO: आतंक रोकने में पाकिस्तान फेल हुआ या पास, आज FATF करेगा फैसला

जून 2018 में आतंकवादियों को हो रही फंडिंग को रोकने में विफल होने के चलते FATF ने पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट में डाल दिया था. अब सोमवार को FATF की बैठक में पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट किए जाने पर चर्चा होगी.

आतंकवाद के खिलाफ पाकिस्तान के उठाए कदमों की समीक्षा करने के लिए सोमवार से फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की प्लेनरी एंड वर्किंग कमेटी की बैठक होने वाली है. जून 2018 में आतंकवादियों को हो रही फंडिंग को रोकने में विफल होने के चलते FATF ने पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट में डाल दिया था. साथ ही एक 27 पॉइंट का एक्शन प्लान भी दिया था, जिसे पाकिस्तान को एक साल में लागू करना था. ऐसा न कर पाने पर पाकिस्तान को FATF की ब्लैक लिस्ट में डाल दिया जाएगा.

दूसरे शब्दों में कहें तो आतंकवाद पर एक्शन लेने और उसकी फंडिंग रोकने में विफल रहने पर पाकिस्तान को मिलने वाली आर्थिक मदद बंद हो सकती है. न्यूज एजेंसी के सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान के सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन द्वारा तैयार की गई एक अनुपालन रिपोर्ट को पाकिस्तान के आर्थिक मामलों के मंत्री की मौजूदगी में जांचा जाएगा. FATF के मुताबिक अगर पाकिस्तान इन 27 पॉइंट को लागू करने में विफल रहता है तो उसे ब्लैक लिस्टेड कर दिया जाएगा.

APJG के मुताबिक फेल होगा पाकिस्तान

अगस्त महीने में एशिया पेसिफिक जॉइंट ग्रुप (APJG) ने पाकिस्तान को आतंकवाद की फंडिंग के खिलाफ की जाने वाली कार्रवाई में विफल रहने की बात कही थी. हालांकि कुछ पाकिस्तानी रिपोर्ट्स यह दावा भी कर रही हैं कि APJG की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान बहुत बेहतरीन काम कर रहा है. वहीं भारतीय रिपोर्ट्स के मुताबिक पाकिस्तान FATF की बैठक को लेकर काफी परेशान दिख रहा है.

भारतीय रिपोर्ट्स दावा कर रही हैं कि आतंकी गतिविधियों को रोकने के लिए बनाई गई 27 पॉइंट की लिस् में से सिर्फ 6 पर ही कार्रवाई की है. ऐसे में अब पाकिस्तान पर ब्लैक लिस्टेड होने की तलवार लटक रही है. इसी के चलते पाकिस्तान ने पिछले दिनों चार प्रमुख आतंकियों को गिरफ्तार किया था. वहीं प्रतिबंधित आतंकी संगठन जमात-उद-दावा का प्रमुख हाफिज सईद पहले ही टेरर फंडिंग मामले के तहत जेल में बंद है.

ये भी पढ़ें: ‘सत्ता में वापसी हुई तो क्या जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा वापस दे देगी कांग्रेस’