थाईलैंड नरेश के राज्याभिषेक में दिखी भारतीय परंपराओं की झलक

राजा ने बुधवार को ऐलान किया कि उन्होंने अपनी बॉडीगार्ड जनरल सुथिदा वजीरालोंगकोर्न ना अयुध्या से शादी रचा ली है, जो उनकी चौथी पत्नी बनीं.

बैंकॉक: थाईलैंड के राजा महा वजीरालोंगकोर्न बोडिन्द्रदेबयवरंगकुन का सिंहासन पर आसीन होने के दो साल बाद आखिरकार शनिवार को राज्याभिषेक हो गया. तीन दिवसीय समारोह में 3.1 करोड़ डॉलर खर्च हुए हैं और यह पिछले राज्याभिषेक के 69 साल बाद हुआ है.

थाईलैंड के राजा महा वजीरालोंगकोर्न बोडिन्द्रदेबयवरंगकुन का राज्याभिषेक समारोह बैंकाक के ग्रैंड पैलेस के चक्रबत बिमान शाही आवास में हुआ. समारोह की शुरुआत राजा को पवित्र जल से स्नान कराने से हुई, जहां थाईलैंड के 76 प्रांतों से एकत्र किए गए पवित्र जल को 66 वर्षीय राजा के सिर, पीठ और हाथों पर डाला गया.

इसके बाद सुनहरे परिधान व कढ़ाई वाली पैंट पहने राजा ने अभिषेक अनुष्ठान में भाग लिया जो ग्रैंड पैलेस के बेजल दास्किन थ्रोन हॉल में हुआ, जहां बौद्ध और ब्राह्मणवाद का संयोजन देखने को मिला. राज्याभिषेक समारोह में प्रधानमंत्री प्रयुत चान-ओ-चा सहित आठ प्रमुख थाई नेता शामिल हुए.

ये भी पढ़ें- हाईवा के चपेट में आए इंजीनियर की दर्दनाक मौत, हादसा या साजिश ?

राज्याभिषेक समारोह का समापन राजा के त्रिकोण के आकार वाले नौ परतों वाले छत्र के नीचे बैठने के साथ हुआ, जिसका मतलब है कि अब वहआधिकारिक रूप से अपने दिवंगत पिता भूमिबोल अदुल्यदेज के उत्तराधिकारी बन गए हैं. राजा को 7.3 किलोग्राम वजनी सोने का मुकुट भी पहनाया गया.

अधिकांश थाई लोगों के लिए यह पहला राज्याभिषेक रहा जिसे उन्होंने देखा. दिवंगत राजा भूमिबोल की 5 मई 1950 को ताजपोशी हुई थी. भूमिबोल ने 70 सालों तक देश पर शासन किया. राजा वजीरालोंगकोर्न ने आस्ट्रेलिया और ब्रिटेन में पढ़ाई की है और दो बेटियों व पांच बेटों के पिता हैं.

राजा ने बुधवार को ऐलान किया कि उन्होंने अपनी बॉडीगार्ड जनरल सुथिदा वजीरालोंगकोर्न ना अयुध्या से शादी रचा ली है, जो उनकी चौथी पत्नी बनीं.