चीन में नौकरी पाने के लिए तिब्बतियों के सामने दलाई लामा का विरोध करने की शर्त

चीन में सरकारी नौकरी पाने के लिए तिब्बत के लोगों को अलग तरह की पढ़ाई करनी होगी.

चीन में सरकारी नौकरी पाने के लिए तिब्बत के लोगों को अलग तरह की पढ़ाई करनी होगी. उन्हें अब दलाई लामा की मुखर आलोचना करनी होगी और चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की तरफ रुझान रखना पड़ेगा. अंतर्राष्ट्रीय तिब्बत आंदोलन (ICT) ने गुरुवार को बताया कि तिब्बती ग्रेजिएट्स में योग्यताएं शिक्षा के अलावा होनी चाहिए.

ICT ने स्वायत्त तिब्बत राज्य (TAR) सरकार के ऑनलाइन एजूकेशन प्लेटफार्म पर तिब्बती ग्रेजुएट्स के लिए लिखे गए नोटिस के बारे में बताया कि उसमें ये शर्तें लिखी हैं:

‘कम्युनिस्ट पार्टी के नेताओं का समर्थन, चाइनीज कम्युनिस्ट पार्टी की विचारधारा का समर्थन, तिब्बत के लिए किए जा रहे कार्यों का समर्थन, पार्टी की केंद्रीय विचारधारा के साथ अपनी विचारधारा को मिलाना, अलगाव वाली ताकतों का विरोध, दलाई लामा की पोल खोलना और आलोचना करना, मातृभूमि के प्रति समर्पित रहना.’

तिब्बत को अधिकार दिलाने के लिए बना संगठन ICT का कहना है कि ये शर्तें दिखाती हैं कि तिब्बत के लोगों को बलपूर्वक चीन के प्रति वफादारी निभाने और दलाई लामा का विरोध करने को मजबूर किया जा रहा है, जिन्हें चीन ने 60 साल पहले निर्वासन पर भेज दिया और अभी तक लौटने नहीं दिया है.

ये भी पढ़ें:

दुनिया के सबसे कुख्यात ड्रग्स तस्कर अल चापो का बेटा गिरफ्तार, मेक्सिको बना जंग का मैदान
सैटेलाइट तस्वीरों में दिखा, ‘एयरक्राफ्ट कैरियर फैक्ट्री’ बना रहा है चीन