लाहौर में हुए गैंगवार में मारा गया टॉप खालिस्तानी लीडर, पढे़ं हैप्पी PhD की A to Z डिटेल

हैप्पी का असली नाम हरमीत सिंह था और भारत में कई आपराधिक मामलों में वह फरार चल रहा था.

पंजाब में टॉप खालिस्तानी लीडर हैप्पी PhD को मार दिया गया है. हैप्पी खालिस्तान लिबरेशन फोर्स (KLF) से जुड़ा था और भारत में कई आपराधिक मामलों में फरार चल रहा था.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अधिकारियों ने बताया कि ड्रग्स तस्करी के विवाद में लोकल गैंग ने खालिस्तान लिबरेशन फोर्स (KLF) के टॉप लीडर हैप्पी PhD की हत्या कर दी है. सोमवार दोपहर लाहौर के पास डेरा चहल गुरुद्वारे में यह घटना हुई है.

हैप्पी का असली नाम हरमीत सिंह था. 2016-17 में पंजाब में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के नेताओं की हत्या के मामले भी कथित रूप से हैप्पी का नाम शामिल था. इसके साथ ही वह पाकिस्तान से हथियारों और ड्रग्स की तस्करी में भी शामिल था.

जानें हैप्पी PhD की A to Z डिटेल

  • हरमीत सिंह उर्फ हैप्पी PhD खुद को खालिस्तान लिबरेशन फोर्स का चीफ बताता था.
  • हैप्पी PhD पंजाब पुलिस की मोस्टवांटेड लिस्ट में शामिल था.
  • हैप्पी पर 2016-17 में पंजाब मे हुई RSS और शिवसेना के नेताओं की हत्या का भी आरोप था.
  • उस पर अमृतसर में हैंड ग्रेनेड हमले की साजिश रचने का भी आरोप था.
  • हैप्पी ISI की मदद से पिछले कई सालों से पाकिस्तान में रह रहा था.
  • वो पाकिस्तान से पंजाब में ड्रग्स और हथियारों की स्मगलिंग करता था.
  • हरमीत पाकिस्तान से भारत में आतंकी घटनाओं को अंजाम देने के लिए टेरर मॉड्यूल और स्लीपर सेल भी तैयार करता था.

कैसे पड़ा हैप्पी PhD नाम?

हरमीत सिंह को हैप्पी PhD के नाम से जाना जाता था. इसके पीछे की वजह थी उसकी पढ़ाई. हरमीत ने डॉक्टरेट की डिग्री भी ली हुई थी. इसलिए उसे हैप्पै PhD भी कहा जाता था. हैप्पी अमृतसर के छेहरटा का रहना वाला था.

ये भी पढ़ें:

अफगानिस्तान : तालिबानी इलाके में क्रैश हुआ अमेरिकी सेना का विमान

Related Posts