हिलेरी क्लिंटन आग लगाने वाली बदबूदार महिला, अमेरिकी हिंदू सांसद तुलसी ने क्यों कही ये बात?

गबार्ड ने पिछले साल खुद को राष्ट्रपति चुनाव के लिए उम्मीदवारों की दौड़ में शामिल करने का निर्णय लिया था और हिंदू होने की वजह से वह भारतीय-अमेरिकी लोगों की पसंदीदा उम्मीदवार हैं.

भारतीय मूल की अमेरिकी सांसद तुलसी गबार्ड और पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन के बीच आजकल ट्विटर जंग छिड़ी हुई है. तुलसी गबार्ड ने हिलेरी क्लिंटन को आग लगाने वाली, पार्टी को बर्बाद करने वाली और भ्रष्टाचार की देवी बताया है.

गबार्ड ने ट्वीट किया, ‘ग्रेट! धन्यवाद हिलेरी क्लिंटन. आप युद्ध भड़काने वाली रानी, भ्रष्टाचार की प्रतिमूर्ति, दुर्गंध का रूप जिसने डेमोक्रेटिक पार्टी को लंबे समय से बीमार कर रखा है और जो आखिरकार पर्दे के पीछे से बाहर आ चुके हैं. ’

उन्होंने लिखा, ‘अब यह स्पष्ट हो गया है कि शुरुआती उम्मीदवारों के चयन का चुनाव आपके और मेरे बीच में है. किसी के पीछे कायराना तरीके से न छिपें. सीधी दौड़ में आइए.’

गबार्ड ने पिछले साल खुद को राष्ट्रपति चुनाव के लिए उम्मीदवारों की दौड़ में शामिल करने का निर्णय लिया था और हिंदू होने की वजह से वह भारतीय-अमेरिकी लोगों की पसंदीदा उम्मीदवार हैं.

बता दें कि हिलेरी और तुलसी दोनों ही डेमोक्रेटिक पार्टी से हैं. क्लिंटन ने शुक्रवार को एक साक्षात्कार के दौरान गबार्ड पर आरोप लगाया था कि रूस उनकी मदद कर रहा है, ताकि वह राष्ट्रपति चुनाव में तीसरे पक्ष के उम्मीदवार के रूप में उभर सकें.

पूर्व विदेश मंत्री ने जाहिर तौर पर गबार्ड का हवाला देते हुए कहा, ‘मैं कोई भविष्यवाणी नहीं कर रही हूं, लेकिन मुझे लगता है कि उनकी नजर (रूस की) ऐसे व्यक्ति पर है जो फिलहाल डेमोक्रेटिक उम्मीदवारों में प्राइमरी दौड़ में हैं और रूस उनकी मदद कर रहा है.’

क्लिंटन ने हालांकि साक्षात्कार के दौरान गबार्ड का नाम नहीं लिया था, लेकिन पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के पूर्व सहयोगी डेविड प्लुफे ने कहा कि क्लिंटन का मानना है कि तुलसी गबार्ड तीसरे पक्ष की उम्मीदवार बनने जा रही हैं जिसे रूस और ट्रंप ला रहे हैं.