तुर्की ने हागिया सोफिया म्यूजियम को मस्जिद में बदला, UNESCO और अमेरिका-ग्रीस ने जताई चिंता

अमेरिका (America) के विदेश मंत्री माइक पोंपियो (Mike Pompeo) ने तुर्की से इस छठी शताब्दी की इमारत को म्यूज़ियम (Museum) के रूप में ही बनाए रखने की अपील की थी. ग्रीस (Greece) के संस्कृति मंत्रालय ने अदालत के इस फैसले को खुलेआम उकसाने वाला निर्णय करार दिया है.
Hagia Sophia Museum becomes mosque, तुर्की ने हागिया सोफिया म्यूजियम को मस्जिद में बदला, UNESCO और अमेरिका-ग्रीस ने जताई चिंता

तुर्की (Turkey) के राष्ट्रपति तैय्यप एर्दोगन (Tayyip Erdogan) ने शुक्रवार को राजधानी इस्तांबुल की प्रसिद्ध इमारत हागिया सोफिया (Hagia Sophia) को मस्जिद के रूप में नमाज के लिए खोलने का एलान कर दिया है. यह घोषणा उन्होंने तुर्की की एक अदालत द्वारा हागिया सोफिया को म्यूज़ियम में बदलने के फैसले को गैरकानूनी करार देने के 1 घंटे के बाद ही कर दी.

तुर्की को कट्टरपंथ की तरफ बढ़ाने का इरादा

एर्दोगन ने कहा अयसोफिया मैनेजमेंट को धार्मिक मामलों के निदेशालय को सौंपने का फैसला लिया गया है और इसके साथ ही इसे नमाज के लिए खोलने का भी निर्णय लिया गया है. इसके पीछे का मुख्य कारण राष्ट्रपति एर्दोगन का तुर्की को कट्टरपंथ की ओर बढ़ाना बताया जा रहा है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

यह कहते हुए कि एक बड़े मुस्लिम देश के लिए यह बेहतर होगा, हागिया सोफिया को एक मस्जिद में बदलने के लिए लंबे समय से तुर्की में अभियान चलाया जा रहा है. बता दें कि राष्ट्रपति एर्दोगन ने इस इमारत को मस्जिद में बदलने का वादा करके ही चुनाव में वोट बटोरे थे.

कई देशों और यूनेस्को ने जताई चिंता

इस इमारत का दर्जा बदलने को लेकर संयुक्त राज्य अमेरिका, ग्रीस और चर्च के नेताओं ने चिंता जताई है. संयुक्त राष्ट्र के सांस्कृतिक निकाय यूनेस्को (UNESCO) ने कहा कि 1500 साल पुरानी यह इमारत यूनेस्को की विश्व विरासत स्थल में शामिल है इसलिए इसमें किसी भी तरह के बदलाव से पहले तुर्की को उसे सूचना देनी चाहिए थी.

वहीं अमेरिका (America) के विदेश मंत्री माइक पोंपियो (Mike Pompeo) ने तुर्की से इस छठी शताब्दी की इमारत को म्यूज़ियम के रूप में ही बनाए रखने की अपील की थी. ग्रीस के संस्कृति मंत्रालय ने अदालत के इस फैसले को खुलेआम उकसाने वाला निर्णय करार दिया है. उधर रूसी आर्थोडॉक्स चर्च ने कहा कि अदालत के इस फैसले से विभाजन और बढ़ेगा जो बेहद शर्म की बात है.

क्या है हागिया सोफिया की कहानी

इस्तांबुल (Istanbul) की इस विश्व प्रसिद्ध इमारत हागिया सोफिया का निर्माण वर्ष 537 में बाइजेंटाइन साम्राज्य के शासक जस्टिनियन ने कराया था. निर्माण पूरा होने के बाद इसे एक चर्च बनाया गया. वर्ष 1453 में इस शहर पर इस्लामी ऑटोमन साम्राज्य सुल्तान मेहमत द्वितीय ने हमला कर इस पर अपना कब्जा कर लिया. तब तत्कालीन सरकार ने हागिया सोफिया को म्यूज़ियम में बदलने का निर्णय दिया था. इस तरह सन 537 से लेकर 1453 तक यह एक ग्रीक ऑर्थोडॉक्स चर्च था.

वहीं कुछ सालों बाद इस्लामी कट्टरपंथियों ने इस चर्च में तोड़फोड़ कर इसे मस्जिद बना दिया. इसके बाद जब साल 1930 में आधुनिक तुर्की के निर्माता मुस्तफा कमाल अतातुर्क का शासन आया तो साल 1934 में उन्होंने इस इमारत को फिर म्यूज़ियम घोषित कर दिया और इसे आम लोगों के लिए खोल दिया. यह इमारत आज भी अच्छी हालत में है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts