प्रत्यर्पण के खिलाफ विजय माल्या की याचिका लंदन कोर्ट ने की खारिज

माल्या की याचिका को लंदन कोर्ट ने खारिज कर दिया है. याचिका ख़ारिज होन पर प्रवर्तन निदेशालय (ED) इसे बड़ी कामयाबी मान रही है.

नई दिल्ली : भगोड़ा शराब कारोबारी विजय माल्या प्रत्यर्पण मामले में भारतीय जांच एजेंसियों को एक बड़ी सफलता मिली है. लंदन की हाईकोर्ट से विजय माल्या को बड़ा झटका लगा है. दरअसल विजय माल्या ने UK वेस्टमिंस्टर कोर्ट में भारत प्रत्यर्पण किए जाने के खिलाफ याचिका दायर की थी. जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया.

माल्या की याचिका खारिज होने पर प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने इसे बड़ी कामयाबी बताया है. प्रत्यपर्ण मामले में विजय माल्या अब कोई भी याचिका दायर नहीं कर सकता. याचिक खारिज होने के 14 दिनों के अंदर ही भारत माल्या को वापिस लाने की कोशिशें और तेज कर देगा. इस मामले पर चर्चा करते हुए ED ने बताया कि विजय माल्या को जल्द लाने की पूरी कोशिश की जा रही है.

ED ने आगे कहा कि जब तक माल्या भारत लैंड नहीं कर जाता तब तक प्रयास जारी रहेंगे. मालूम हो कि विजय माल्या के खिलाफ फ्रॉड, मनी लॉन्ड्रिंग, फेमा के उल्लंघन समेत कई आरोप है.

भगोड़ा कारोबारी माल्या पर भारतीय बैंकों के 9 हजार करोड़ रुपए भी बकाया हैं. बता दें कि माल्या की किंगफिशर एयरलाइंस ने बैंकों से लोन लिया था. जिसके खुलासे के चंद दिनों पहले ही माल्या 2016 में लंदन भाग गया. मुंबई की विशेष अदालत द्वारा माल्या को भगोड़ा घोषित किया जाने के बाद ED ने देश-विदेश में उसकी कई संपत्तियां अटैच कर ली.

ये भी पढ़ें- ‘बीवी और बच्चों के पैसों पर जिंदगी काट रहा विजय माल्या’