संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में कश्मीर मुद्दे पर कल होगी बंद दरवाजों के पीछे चर्चा

यह खबर तब सामने आई है, जब पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरेशी ने कहा था कि उन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष को एक पत्र लिखा है.

संयुक्त राष्ट्र, (आईएएनएस): संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) शुक्रवार को कश्मीर मुद्दे पर एक क्लोज डोर बैठक करेगी. भारत द्वारा अपने संविधान से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने और जम्मू-कश्मीर मुद्दे से विशेष राज्य का दर्जा वापस लिए जाने को लेकर बैठक में चर्चा की जाएगी.

खबरों के मुताबिक, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष जोआना रेकोनाका ने पत्रकारों से बुधवार को कहा कि वह बंद दरवाजों के पीछे जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर 16 अगस्त को चर्चा करेंगे.

PAK ने UNSC को लिखा था पत्र
यह खबर तब सामने आई है, जब पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरेशी ने मंगलवार रात कहा था कि उन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष को एक पत्र लिखा है. कुरेशी ने कश्मीर मुद्दे पर लिखते हुए कहा है कि इस मामले पर तुरंत एक आपातकालिक बैठक बुलाई जाए.

मंत्री ने कहा कि यदि भारत इसी तरह आक्रामक रुख बनाए रखता है तो पाकिस्तान चुप नहीं बैठेगा. इस महीने की शुरुआत में भारत के कदम के बाद से ही दोनों पड़ोसी देशों में तनाव बढ़े हैं.

चीन ने की UNSC में कश्मीर पर चर्चा की मांग 
वहीं, चीन ने भारत सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा खत्म किए जाने पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाने की मांग की है. एक वरिष्ठ राजनयिक ने बताया कि पाकिस्तान ने इस बारे में अगस्त महीने में सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष पोलैंड को पत्र लिखा था. उन्होंने बताया कि बैठक बुलाने का अनुरोध हाल ही में किया गया. हालांकि, बैठक के लिए अभी तक कोई समय तय नहीं किया गया है.

राजनयिक ने कहा, “चीन ने सुरक्षा परिषद की कार्यसूची में शामिल ‘भारत-पाकिस्तान सवाल’ पर चर्चा की मांग की है. यह मांग पाकिस्तान की ओर से सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष को लिखे पत्र के संदर्भ में की गई है.”

ये भी पढ़ें-

रक्षाबंधन पर बचपन की तस्वीरें शेयर कर बोलीं प्रियंका गांधी- दुनिया का सबसे अच्छा भाई है राहुल

पतंग के मांझे में उलझी दिल्ली मेट्रो की रफ्तार, रक्षाबंधन पर यात्री हुए परेशान

कश्मीर मुद्दे पर चीन ने चली चाल, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में की चर्चा कराने की मांग