अमेरिका ने पाकिस्तान को फिर दिया बड़ा झटका, तहरीक-ए-तालिबान के सरगना को घोषित किया आतंकी

टीटीपी ने दिसंबर 2014 में पेशावर स्कूल में वीभत्स हमला किया था. इसमें 149 लोग मारे गए, जिसमें 132 बच्चे थे.

पाकिस्तान को अमेरिका से एक बार फिर बड़ा झटका लगा है. अमेरिका ने पाक स्थित आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान के चीफ नूर अली को वैश्विक आतंकी घोषित कर दिया है. तहरीक-ए-तालिबान आतंकी संगठन अल-कायदा का सहयोगी है.

सैकड़ों मासूमों का किया है कत्लेआम
टीटीपी कई आत्मघाती धमाकों और सैकड़ों नागरिकों के कत्‍लेआम के लिए जिम्मेदार है. अमेरिका पहले ही टीटीपी को वैश्विक आतंकवादी समूह के रूप में नामित कर चुका है. मालूम हो कि नूर वली को मुफ्ती नूर वली मसूद के नाम से भी चर्चित है.

अमेरिका के विदेश विभाग की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि नूर वली के नेतृत्व में टीटीपी ने पाक में कई आतंकी हमले किए हैं. साथ ही इन हमलों की जिम्मेदारी भी ली है. हमलों में सैकड़ों लोगों ने जान गंवाई है. इसके अलावा टीटीपी का अलकायदा से काफी करीबी संबंध भी है.

TTP ने 132 स्कूली बच्चों की ली जान
बता दें कि टीटीपी के सरगना मुल्ला फजीउल्लाह के मारे जाने के बाद नूर वली ने जून 2018 में संगठन प्रमुख की जिम्मेदारी संभाली थी. टीटीपी ने दिसंबर 2014 में पेशावर स्कूल में वीभत्स हमला किया था. इसमें 149 लोग मारे गए, जिसमें 132 बच्चे थे. इस नृशंस हमले की दुनियाभर में निंदा हुई थी.

गौरतलब है कि पाकिस्तान लगातार वैश्विक मंचों पर आतंकी संगठनों को बढ़ावा देने की बात से इनकार करता रहा है. लेकिन अब पाकिस्तान की पोल दुनिया के सामने खुल गई है. यह बात सबको पता लग गई है कि पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई करने नाम पर महज दिखावा करता है.

ये भी पढ़ें-

उन्नाव रेप केस: AIIMS में लगी अदालत, पीड़िता का बयान दर्ज करने पहुंचे जज

सुरक्षाबलों ने जम्मू-कश्मीर के सोपोर में लश्कर के मोस्ट वांटेड आतंकी आसिफ को मार गिराया

लद्दाख और जम्मू-कश्मीर के बीच कैसे होगा संपत्तियों का बंटवारा, जानिए