‘शहरों में सांस तक नहीं ले सकते’, डोनाल्‍ड ट्रंप ने भारत पर फोड़ा जलवायु परिवर्तन का ठीकरा

ट्रंप ने दावा किया कि अमेरिका स्‍वच्‍छतम जलवायु वाले देशों में से एक है.

नई दिल्‍ली: अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने जलवायु परिवर्तन (Climate Change) का ठीकरा भारत, चीन और रूस पर फोड़ा है. ब्रिटेन दौरे के अंतिम दिन ट्रंप ने दावा किया कि अमेरिका स्‍वच्‍छतम जलवायु वाले देशों में से एक है.

ITV के साथ इंटरव्‍यू में ब्रिटिश राजपरिवार के सदस्‍य प्रिंस चार्ल्‍स से मुलाकात के बारे में पूछे गए सवाल पर ट्रंप ने कहा कि इन तीन देशों में हवा और पानी ‘अच्‍छा’ नहीं है और दुनिया के वातावरण के प्रति अपनी जिम्‍मेदारी उन्‍होंने नहीं निभाई है.

ट्रंप ने कहा, “हम (ट्रंप, प्रिंस चार्ल्‍स) 15 मिनट की बातचीत करने वाले थे…मगर मुलाकात डेढ़ घंटे तक चली… अधिकतर समय वह ही बोलते रहे. वह जलवायु परिवर्तन (Climate Change) में खासी रुचि रखते हैं. मैंने ये जरूर कहा कि सारे आंकड़े देखें तो अमेरिका सबसे स्‍वच्‍छ जलवायु वाले देशों में से एक है.”

अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने आगे कहा, “चीन, भारत, रूस और कई और मुल्‍क़ों के पास अच्‍छी हवा नहीं है. ढंग का पानी नहीं है. न प्रदूषण और स्‍वच्‍छता का कुछ पता है. अगर आप कुछ शहरों में जाइए… मैं नाम नहीं लूंगा पर मैं ले सकता हूं. अगर कुछ शहरों में जाओ तो आप सांस तक नहीं ले सकते. वे अपनी जिम्‍मेदारी नहीं निभाते.”

राष्ट्रपति ट्रंप ब्रिटेन की तीन दिवसीय राजकीय यात्रा पर आए थे. किसी भी अमेरिकी राष्ट्रपति की यह ब्रिटेन की तीसरी यात्रा रही. इससे पहले वर्ष 2003 में जॉर्ज डब्ल्यू बुश और 2011 में बराक ओबामा भी यहां आए थे.

ये भी पढ़ें

ट्रंप के फैसले को भारत ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण, अमेरिका ने GSP लिस्ट से हटाया था नाम

ट्रंप से डील ना होने पर भड़का किम जोंग उन, मुलाकात कराने वाले को फायरिंग दस्ते से उड़वाया!