अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान को लगाई लताड़, कहा- हरकतों से बाज़ आओ

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ पर हुए आतंकी हमले की निंदा दुनियाभर में हो रही है. हमले के पांच दिन बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी पाकिस्तान को लताड़ लगाई है. इस मामले को लेकर वो भारत के साथ खड़े हैं. ट्रंप ने पुलवामा हमले को ‘भयावह’ कहा है. ट्रंप ने कहा, “मैंने देखा […]

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ पर हुए आतंकी हमले की निंदा दुनियाभर में हो रही है. हमले के पांच दिन बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी पाकिस्तान को लताड़ लगाई है. इस मामले को लेकर वो भारत के साथ खड़े हैं. ट्रंप ने पुलवामा हमले को ‘भयावह’ कहा है. ट्रंप ने कहा, “मैंने देखा है. मुझे इस पर बहुत सारी रिपोर्ट मिली हैं. हम इस मामले में सही वक्त आने पर जवाब देंगे. यह आतंकी हमला एक भयावह स्थिति थी. हमें इसकी रिपोर्ट मिल रही है. हम इस पर एक बयान जारी करेंगे.”

अमेरिकी विदेशी मंत्रालय ने भी इस कायराना हमले पर आक्रोश व्यक्त किया है. मंत्रालय ने कहा है कि पाकिस्तान को आतंकियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करनी चाहिए. विदेश विभाग के डिप्टी प्रवक्ता रॉबर्ट पॉलडिनो ने कहा, “पुलवामा हमले के साथ ही अमेरिका भारत के संपर्क में है, हम ना सिर्फ इस हमले की कड़ी निंदा करते हैं बल्कि हम भारत के साथ भी खड़े हैं.”

इसके साथ ही पुलवामा आतंकी हमले पर भारत को फ्रांस का भी साथ मिला है. फ्रांस संयुक्त राष्ट्र में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को पूर्ण प्रतिबंधित करने का प्रस्ताव लाएगा. मीडिया में सूत्रों के हवाले से यह खबर छपी है कि फ्रांस अगले एक-दो दिन में ही संयुक्त राष्ट्र में यह प्रस्ताव पेश करेगा. इसे भारत की एक बड़ी कूटनीतिक कामयाबी मानी जा रही है.