NASA का Perseverance Robot लॉन्च, मंगल ग्रह पर जीवन का पता लगाना है मिशन

नासा (NASA) का यह रोबोट मंगल पर लैंड होने के बाद वहां से पत्थर और मिट्टी के सैंपल इकट्ठा करेगा. सबकुछ सही रहा तो ये सैंपल्स इस दशक के बाद पृथ्वी तक पहुंच पाएंगे.
US space agency, NASA का Perseverance Robot लॉन्च, मंगल ग्रह पर जीवन का पता लगाना है मिशन

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी का Perseverance Robot मंगल ग्रह (Mars Planet) पर जीवन (Life) का पता लगाने के लिए उड़ान भर चुका है. एक टन वजनी और छह पहियों वाला यह रोवर फ्लोरिडा से एक एटलस रॉकेट से लॉन्च किया गया. यह रोबोट अगले साल फरवरी में मंगल ग्रह को लेकर जानकारियां भेजेगा.

मंगल से इकट्ठा करेगा पत्थर और मिट्टी

नासा का यह रोबोट मंगल पर लैंड होने के बाद वहां से पत्थर और मिट्टी के सैंपल इकट्ठा करेगा. सबकुछ सही रहा तो ये सैंपल्स इस दशक के बाद पृथ्वी तक पहुंच पाएंगे.

मालूम हो कि बीते 11 दिनों के भीतर मंगल ग्रह के लिए भेजा गया यह तीसरा मिशन है. इससे पहले UAE और चीन ने मंगल के लिए अपने मिशन लॉन्च किए हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

कोरोनावायरस महामारी के बीच भी नासा इस मिशन पर प्राथमिकता के साथ काम करता रहा. Perseverance को तय समय पर लॉन्च करने के लिए कुछ खास तरह के अभ्यास कार्य किए गए.

प्रबंधक Jim Bridenstine ने कहा, “मैं झूठ नहीं बोलूंगा. यह काफी चुनौती भरा रहा लेकिन हमारी टीम ने इसे कर दिखाया. हमें अपनी टीम के एकजुट होकर काम करने पर गर्व है. इसे लेकर हम बहुत ज्यादा उत्साहित हैं.”

रोवर के साथ भेजा गया हेलिकॉप्टर

इस रोवर के साथ Ingenuity नाम का एक छोटा हेलिकॉप्टर भी जा रहा है. जो मंगल की सतह पर अकेले उड़ान भरने का प्रयास करेगा.

मंगल के बेहद विरल वातावरण के बीच उड़ान भरने के दौरान यह हेलिकॉप्टर सतह से 10 फीट ऊंचा उठेगा और एक बार में 6 फीट आगे तक जाएगा. हर प्रयास के साथ यह और आगे बढ़ने की कोशिश करेगा.

Perseverance रोवर को अत्याधुनिक लैंडिंग तकनीकी से लैस किया गया है. इसके अलावा इस रोवर में कई कैमरे और माइक्रोफोन लगे हैं, जो मंगल ग्रह की तस्वीरें और वहां की आवाज को रिकॉर्ड करेंगे.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts