अमेरिका ने आर्मी ऑफिसर की मां को देश से निकाला, जानें क्‍या है वजह

आव्रजन कानूनों के तहत US के इमिग्रेशन विभाग ने एक महिला को 31 साल बाद मैक्सिको भेज दिया.
USA deports army officer's mother, अमेरिका ने आर्मी ऑफिसर की मां को देश से निकाला, जानें क्‍या है वजह

अमेरिकी सेना के एक अधिकारी की मां को देश छोड़ने पर मजबूर कर दिया गया. आव्रजन कानूनों के तहत US के इमिग्रेशन विभाग ने महिला को 31 साल बाद मैक्सिको भेज दिया. मां को गिरफ्तार कर हथकड़ियां पहनाई गई और तिजुआना भेजा गया. दुखी बेटे ने कहा शायद मैं अपनी मां को कभी देख नहीं पाउंगा. तिजुआना एक संवेदनशील इलाका है और वहां मिलिट्री ट्रैवल संभव नही.

आर्मी के खुफिया अधिकारी सेकंड लेफ्टिनेंट जिब्रान क्रूज (30) की मां रोशियो रिबॉल्लर गोमेज (50) ने खुद को निर्वासित किए जाने की तैयारी कर ली थी. उनकी बेटी को विश्वास था कि उन्हें देश में रुकने की इजाज़त दे दी जाएगी इसलिए गोमेज ने बैग पैक नहीं किया था. हालांकि इसके बावजूद, गोमेज को इमिग्रेशन एंड कस्टम्स इन्फोर्समेंट के अधिकारियों ने सैन डिएगो से तिजुआना के मैक्सिकन बार्डर इलाकों में भेज दिया.

इस मामले को लेकर जिब्रान क्रूज और उनकी बहन कार्ला ने गुरुवार को एक प्रेस कांफ्रेस की. जिब्रान ने कहा कि “मैं ठगा हुआ महसूस कर रहा हूं. मेरी मां और मेरा देश के लिए बलिदान किसी काम न आया. इसके पहले भी गोमेज को तीन बार निर्वासित किया जा चुका है. मेरी मां इस देश को कैसे नुकसान पहुँचा रही थी. वो बहुत मेहनत से काम करती थी. समय से अपने टैक्स भरती थी. आखिर किसी को क्यों आपत्ति थी उनके यहां रहने से? इमिग्रेशन ऑफिसर्स ने उन्हें ये कहकर बुलाया था कि प्रवास विस्तार के लिए बुलाया है लेकिन उन्हे गिरफ्तार कर मैक्सिको भेज दिया गया.”

गोमेज अपना छोटा सा व्यवसाय चलाती थीं. निवार्सन से पहले जिब्रान अपनी मां से मिलने पहुंचे. मां को गले लगाते हुए उनकी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. कैलिफोर्निया की सीनेटर कमला हैरिस के ऑफिस की ओर से कोशिशें की गई कि देश में गोमेज के प्रवास को और विस्तार मिल सके, लेकिन कामयाबी नहीं मिली.

ये भी पढ़ें

कौन हैं ब्रिगेडियर जनरल इस्‍माइल क़ानी? सुलेमानी की मौत के बाद ईरान ने बनाया Quds फोर्स का नया कमांडर

दोबारा अमेरिका का राष्ट्रपति बनने के लिए ‘ ट्रंप’ कार्ड है बगदाद पर एयर स्ट्राइक! पुराने ट्वीट से उठे सवाल

Related Posts