चीन ने श्रीलंका को गिफ्ट किया खास जहाज

पी- 625 रक्षक जहाज 1994 में बनाया गया, जो समुद्र में गश्त, पर्यावरण निगरानी और समुद्री लुटेरों पर प्रहार करने में बेहद कारगर है.

बीजिंग: चीन ने श्रीलंका को ऑफशोर पेट्रोल व्‍हीकल (ओपीवी जहाज) तोहफे में दिया है. पी- 625 नाम का यह जहाज 8 जुलाई को कोलंबो बंदरगाह पर पहुंच गया. श्रीलंकाई नौसेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल पियाल दे सिल्वा ने स्वागत समारोह में चीन का धन्‍यवाद किया.

उन्होंने कहा, “वर्तमान में श्रीलंका के सामने समंदर में कई चुनौतियां हैं. श्रीलंका के समुद्र में मादक पदार्थ तस्करी की जा रही है. पी- 625 की हिस्सेदारी से श्रीलंकाई नौसेना को काफी मजबूती मिलेगी.’

श्रीलंका स्थित चीन के राजदूत छंग सीयुआन ने बताया कि चीन सरकार और जनता पहले की तरह श्रीलंकाई सरकार और जनता के साथ खड़े होकर आतंकवाद समेत सभी अपराधों पर मिलकर प्रहार करेगी.

पी- 625 रक्षक जहाज का निर्माण 1994 में हुआ था, जो भविष्य में मुख्यतौर पर समुद्र में गश्त, पर्यावरण निगरानी और समुद्री लुटेरों पर प्रहार करने में कारगर है.

श्रीलंका स्थित चीनी दूतावास के अनुसार, चीनी नौसेना ने इसके पहले श्रीलंकाई नौसेना के 110 ऑफिसरों और नाविकों को प्रशिक्षण दिया है और बाद में श्रीलंका की जरूरत पर और प्रशिक्षण प्रदान करेगी.