जानिए, उस खतरनाक बीमारी के बारे में सब कुछ, जिसकी वजह से शिंजो आबे को छोड़ना पड़ा प्रधानमंत्री पद

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो (Shinzo Abe) पद से इस्तीफा दे रहे हैं. उन्हें अल्सरेटिव कोलाइटिस (Ulcerative Colitis) नाम की बीमारी बताई जा रही है. जानिए इसके बारे में कि यह कितनी खतरनाक है.

Shinzo Abe
शिंजो आबे (फाइल फोटो)

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो (Shinzo Abe) खराब तबीयत की वजह से आखिरकार पीएम पद से इस्तीफा (Shinzo Abe Resign) दे रहे हैं. उन्हें अल्सरेटिव कोलाइटिस नाम की बीमारी बताई जा रही है, जिससे शिंजो आबे किशोरावस्था से जूझ रहे हैं. आखिर क्या होती है यह अल्सरेटिव कोलाइटिस (Ulcerative Colitis) बीमारी जिसकी वजह से शिंजो आबे इतनी दिक्कतों का सामना कर रहे हैं और अब अपने कार्यकाल को बीच में भी छोड़कर इस्तीफा दे रहे हैं.

अल्सरेटिव कोलाइटिस को बड़ी आंत की एक गंभीर बीमारी बताया जाता है. शिंजो आबे (Shinzo Abe Ulcerative Colitis) किशोरावस्था में ही इसका शिकार बन गए थे. अल्सरेटिव कोलाइटिस बीमारी में बड़ी आंत की जो अंदरूनी परत होती है उसपर सूजन और जलन होने लगती है.

पढ़ें – जापान: शिंजो आबे ने दिया प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा

आंतों पर हो जाते हैं छाले, पाचन तंत्र पर गंभीर असर

अल्सरेटिव कोलाइटिस में आंतों पर कई छोटे-छोटे छाले हो जाते हैं. उन छालों और सूजन की वजह से फिर पेट-संबंधी परेशानियां होने लगती हैं जो पाचन तंत्र (इम्यून सिस्टम) पर बुरा असर डालती हैं. कहा जाता है कि इसका वक्त पर इलाज ना कराना जान का खतरा मोल लेने जैसा है. इससे कोलोरेक्टल (मलनाली) कैंसर होने की संभावना भी ज्यादा हो जाती है.

65 साल के शिजों आबे को हाल ही में दो बार हॉस्पिटल जाना पड़ा था, जिसकी वजह से उनकी सेहत को लेकर कयास लगने शुरू हो गए थे. पिछली बार जब शिंजो आबे हॉस्पिटल गए थे तब वह करीब 7 घंटे तक वहां रहे थे. पिछले सोमवार ही शिंजो आबे जापान में सबसे लंबे वक्त तक पीएम रहनेवाले शख्स बने थे. उनके कार्यकाल को 8 साल पूरे हो गए हैं. उनका यह कार्यकाल सितंबर 2021 तक का है.

Related Posts