World Bank ने कारमेन रेनहार्ट को क्यों बनाया Chief Economist और उपाध्यक्ष? ये है अहम वज़ह

रेनहार्ट हार्वर्ड यूनिवर्सिटी (Harvard University) की प्रोफेसर हैं, रेनहार्ट की चर्चा जिस चीज़ के लिए हुई है वो है उनकी किताब "दिस टाइम इज़ डिफरेन्ट: ऐट सेंचुरीज़ और फाइनेंशियल फॉली" (This Time is Different: Eight Centuries of Financial Folly). रेनहार्ट की ये किताब 2009 में पब्लिश हुई थी.
World Bank appoints Carmen Reinhart, World Bank ने कारमेन रेनहार्ट को क्यों बनाया Chief Economist और उपाध्यक्ष? ये है अहम वज़ह

कोरोनावायरस के चलते पैदा हुए वित्तीय संकट हालत के बीच वर्ल्ड बैंक (World Bank) ने बड़ा फैसला किया है. वर्ल्ड बैंक ने कारमेन रेनहार्ट (Carmen Reinhart) को नया उपाध्यक्ष और मुख्य अर्थशास्त्री (chief economist) नियुक्त किया है. मौजूदा वित्तीय संकट के दौर में रेनहार्ट IMF के एडवाइज़री बोर्ड समेत न्यूयॉर्क फेडरल रिजर्व के लिए भी सेवाएं दे रही थीं.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

वर्ल्ड बैंक के प्रेसिडेंट डेविड मेलपास (David Malpass ) ने एक बयान में कहा है कि रेनहार्ट की विश्व बैंक में नियुक्ति कोरोनावायरस () के चलते वित्तीय संकट से जूझ रहे विकासशील देशों की मदद करने में कारगर साबित होगी. कारमेन रेनहार्ट 15 जून से विश्व बैंक के लिए काम करना शुरु करेंगी, वो पिनेलोपि गोल्डबर्ग (Pinelopi Goldberg) की जगह लेंगी.

फाइनेंशियल क्राइसिस एक्सपर्ट हैं रेनहार्ट

आर्थिक मंदी की स्थिति और कोरोना के वित्तीय संकट के बीच में रेनहार्ट का विश्व बैंक का उपाध्यक्ष और मुख्य अर्थशास्त्री नियुक्त किया जाने बेहद अहम है. रेनहार्ट हार्वर्ड यूनिवर्सिटी (Harvard University) की प्रोफेसर हैं, रेनहार्ट की चर्चा जिस चीज़ के लिए हुई है वो है उनकी किताब “दिस टाइम इज़ डिफरेन्ट: ऐट सेंचुरीज़ और फाइनेंशियल फॉली” (This Time is Different: Eight Centuries of Financial Folly). रेनहार्ट की ये किताब 2009 में पब्लिश हुई थी. उन्होंने ये किताब केनेथ रोगोफ (Kenneth Rogoff) के साथ मिलकर लिखी है.

इसलिए खास है रेनहार्ट की विश्व बैंक में नियुक्ति

वर्ल्ड बैंक के अध्यक्ष ने भी अपने बयान में ये कहा है कि रेनहार्ट का जीवन विकासशील और विकसित देशों के वित्तीय संकट और उन पर काबू पाने को लेकर समर्पित रहा है. ऐसे में जहां पूरा विश्व महीने तक चलने वाले लॉकडाउन के चलते पैदा वित्तीय संकट से विकासशील देशों को उबारने के लिए कोई नई ठोस नीति लाने पर विचार कर रहा है, जिसमें रेनहार्ट विश्व बैंक के लिए तुरुप का इक्का भी साबित हो सकती हैं.

World Bank appoints Carmen Reinhart, World Bank ने कारमेन रेनहार्ट को क्यों बनाया Chief Economist और उपाध्यक्ष? ये है अहम वज़ह

अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संकट की अर्थशास्त्री हैं

रेनहार्ट अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संकट की अर्थशास्त्री हैं, ऐसे में वैश्विक वित्तीय संकट के दौर में वो संकट मोचन की भूमिका में भी नज़र आ सकती हैं. आपको बता दें कि रेनहार्ट की नियुक्ति से एक दिन पहले ही विश्व बैंक ने कहा था कि कोरोना वायरस 100 विकासशील देशों में अपनी पकड़ बना चुका है, जिसमें विश्व की 70 फीसदी जनता रहती है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts