अमेरिका में परमाणु चोरी करते पकड़े गए पांच पाकिस्तानी, बड़े नेटवर्क का हुआ पर्दाफाश

ये पांच पाकिस्तानी कनाडा, हांगकांग और ब्रिटेन में रहते हैं. इन्होंने अपनी फ्रंट कंपनियों के लिए दुनियाभर से खरीद करने का नेटवर्क खड़ा किया.

पाकिस्तान में न्यूक्लियर की स्मगलिंग और मिसाइल टेक्नोलॉजी को अवैध तरीके से हथियाने का सिलसिला अभी खत्म नहीं हुआ है. पाकिस्तान वह देश है जिसने चोरी से परमाणु हथियार और बैलिस्टिक मिसाइल तकनीक हासिल की.

पाकिस्तान के पास शायद ही विज्ञान और तकनीक का कोई केंद्र है. अब पांच पाकिस्तानियों को अमेरिकी तकनीक की चोरी करते हुए पकड़ा गया है. दरअसल, रावलपिंडी स्थित फ्रंट कंपनी ‘बिजनस वर्ल्ड’ से जुड़े पांच पाकिस्तानियों पर पाकिस्तान के न्यूक्लियर और मिसाइल प्रोग्राम के लिए अमेरिकी तकनीक की स्मगलिंग करने का आरोप लगा है.

अमेरिकी न्याय विभाग के मुताबिक, ये पांच पाकिस्तानी कनाडा, हांगकांग और ब्रिटेन में रहते हैं. इन्होंने अपनी फ्रंट कंपनियों के लिए दुनियाभर से खरीद करने का नेटवर्क खड़ा किया. इनकी फ्रंट कंपनियां अडवांस्ड इंजिनियरिंग रीसर्च ऑर्गनाइजेशन (एईआरओ) और पाकिस्तान ऐटमिक एनर्जी कमिशन (पीएईसी) के लिए अमेरिका में बने उत्पाद खरीदती हैं.

अमेरिकी असिस्टेंट अटॉर्नी जनरल जॉन सी डेमर्स ने कहा, “प्रतिवादियों (पाकिस्तानियों) ने अमिरेका में निर्मित उत्पाद उन संस्थानों को निर्यात किए जिनसे अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा है. क्योंकि इन संस्थानों के संबंध पाकिस्तान के हथियार कार्यक्रमों से हैं.”

मुम्मद कामरान वली (41) पाकिस्तान में, मुहम्मद अहसान वली (48) और हाजी वली मुहम्मद शेख (82) कनाडा में, अशरफ खान मुहम्मद हॉन्ग कॉन्ग में जबकि अहमद वहीद (52) यूके में रहता है. इन पर आरोप है कि इन्होंने इंटरनैशनल एनर्जी इकनॉमिक पावर्स ऐक्ट और एक्सपोर्ट कंट्रोल रिफॉर्म ऐक्ट के उल्लंघन की साजिश रची है.

दूसरी तरफ, पाकिस्तान के रावलपिंडी में एक आतंकवाद रोधी अदालत ने कट्टरपंथी संगठन तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) के 86 सदस्यों व समर्थकों को कुल मिलाकर 4738 साल की कैद की सजा सुनाई है.

इन सभी को 55-55 साल कैद की सजा सुनाई गई है. पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट में यह जानकारी देते हुए बताया गया है कि जिन लोगों को सजा सुनाई गई है उनमें टीएलपी प्रमुख खादिम हुसैन रिजवी का भाई अमीर हुसैन रिजवी और भतीजा मोहम्मद अली भी शामिल हैं. यह सभी जेल में अपनी आगे की जिंदगी के 55 साल बिताएंगे.

ये भी पढ़ें-

पाकिस्तान में फिर अगवा हुई हिंदू लड़की, सड़क पर उतरे परिजनों का विरोध प्रदर्शन

आधी रात को शराब पीकर ट्वीट करने वाले आसिफ गफूर, तुम बहुत याद आओगे…