Coronavirus: पाकिस्तान में कोरोना वायरस की घुसपैठ, 2 मामलों की हुई पुष्टि

सिंध स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि कराची में एक 22 साल के युवक को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है. पीड़ित ने हाल में ईरान का यात्रा की थी और उसी दौरान वो कोरोना की चपेट में आया.

पाकिस्तान में कोरोना वायरस के दो मामले पाए गए हैं. सरकार की तमाम कोशिशिों के बावजूद कोरोना ने पाकिस्तान में घुसपैठ कर ली है. प्रधानमंत्री के स्पेशल हेल्थ सहायक डॉ जफर मिर्जा ने इस बात की पुष्टि की है.

मिर्जा ने ट्वीट किया, “पाकिस्तान में पहली बार कोरोना के दो मामले पाए जाने की मैं पुष्टि कर सकता है. दोनों मामलों की देखभाल क्लिनिकल स्टैंडर्ड प्रोटोकॉल के हिसाब से की जा रही है. साथ ही दोनों पीड़ितों की हालत अभी स्थिर है.”

उन्होंने कहा कि घबराने की कोई जरूरत नहीं है. हालात नियंत्रण में है.

मिर्जा ने कहा, “मैं अभी राजधानी से दूर हूं. मैं गुरुवार को इस्लामाबाद आऊंगा और इस मामले पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करूंगा.”

मिर्जा के ट्वीट से पहले सिंध स्वास्थ्य विभाग ने बताया था कि कराची में एक 22 साल के युवक को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है. बताया गया कि पीड़ित ने हाल में ईरान का यात्रा की थी और उसी दौरान वो कोरोना की चपेट में आया.

पीड़ित 20 फरवरी को ईरान से कराची प्लेन से यात्रा करके पहुंचा था. अथॉरिटिज उसे अपनी निगरानी में ले चुकी हैं. वहीं, ईरान से आने वाले सभी यात्रिओं का पहले से ही चेक-अप किया जा रहा है. साथ ही अफगानिस्तान से आने वाले यात्रियों की भी स्क्रीनिंग की जा रही है.

बता दें कि चीन में कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 2,663 हो गई है, जबकि कन्फर्म मामलों की संख्या 77,658 हो गई है.

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने कहा कि सोमवार को चीन के 31 प्रांतीय स्तर के क्षेत्रों से 508 नए मामले सामने आने और 71 लोगों की मौत की जानकारी मिली.

प्रकोप के केंद्र हुबेई प्रांत में 68 लोगों की मौत हुई है, जबकि शानदोंग में दो और गुआंगडोंग में एक की मौत हुई है.

सोमवार तक, ठीक होने के बाद कुल 27,323 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई, जबकि गंभीर मामलों की संख्या 789 घटकर 9,126 रह गई. आयोग ने कहा कि 2,824 लोगों के अभी भी वायरस से संक्रमित होने का संदेह है.

ये भी पढ़ें-

Coronavirus Latest Update : जापान के क्रूज पर फंसे भारतीयों को निकालने के लिए जाएगा विमान

इंडिया और यूके की ज्‍वॉइंट मिलिट्री एक्‍सरसाइज खत्‍म, आतंकियों से निपटने को हुई प्रैक्टिस